Breaking News


अनार खाने के फायदे, इन बीमारियों को करती है जड़ से खत्म ( pluthera benifits of pomegranate)


आज हम बात करेंगे ऐसे फल के पौधे की जिसको हम लोग भली-भांति जानते हैं यह फल ईरान से लेकर अफगानिस्तान एवं अन्य कई देशों में पाया जाता है। हालांकि हमारे हिमाचल प्रदेश में पाए जाने वाला अनार उतना फायदेमंद नहीं होता है जितना कि बाहरी देशों में पाया जाने वाला होता है।
हालांकि इस पौधे को जड़ से लेकर पत्तियों तक प्रयोग में लाया जाता है। हमारे आयुर्वेद में एक कहावत है कि एक अनार सौ बीमार अर्थात एक अनार सौ बीमार व्यक्ति को ठीक कर सकता है। हम अनार के पौधे की जितनी भी तारीफ करें उतनी कम है यह हमारे लिए एक वरदान स्वरुप है।अनार बीमारियों के लिए वास्तव में अमृत के समान है ।आइए इसके कुछ बीमारियों के उपचार जानते हैं। 




अनार में पाए जाने वाले पोषक तत्व (nutrients in  pomegranate)-


USDA के अनुसार 100g बीज में लगभग 83 calories होती हैं।
एक मध्यम आकार के अनार में  10g फाइबर तथा 39g sugar पाई जाती है और ऐसा कहा जाता है कि एक माध्यम आकार का अनार हमारी रोजाना के विटामिन c के 48% की पूर्ति कर देता है ।

ये Anar me paye Jane Wale nutrients हैं। 


नकसीर में अनार का प्रयोग (  use of pomegranate in nose bleeding)-


अनार की कली जो होती है बड़ी सुंदर देखने में लगती है जैसे किसी ने सुंदर बर्तन में सिंदूर भर के रख दिया है जब उस कली में से फूल निकलने लगता है और जब वही फूल हवा के कारण गिर जाते हैं। तो उन्हें ले ले और उन को कूटकर उसका रस निकाल लें और उसके रस को दो - दो बूंद नाक में डालने से बार बार होने वाली नकसीर की बीमारी( bleeding from nose) ठीक हो जाती है ।

दंत शूल में अनार का प्रयोग ( use of pomegranate in teeth pain )-


जब अनार को हम खाते हैं तो उसके छिलके को फेंक देते हैं परंतु फल से ज्यादा छिलके लाभकारी होते हैं। जब हमारे दांतों में दर्द हो रहा हो तो अनार के छिलके को कूटकर पाउडर करके थोड़ा सा सरसो का तेल ,थोड़ा सा सेंधा नामक ,थोड़ा सी हल्दी को मिलाकर यदि आप दांतो में मंजन करते है तो दंत शूल में राहत मिलती है ।तथा यहां सभी प्रकार के दांत के रोगों को खत्म कर देता है। 
यह use of pomegranate in tooth pain हैं।

खून की कमी को दूर करने के लिए अनार का प्रयोग ( Use of pomegranate in deficiency of hemoglobin)-

Use of pomegranate in deficiency of hemoglobin
जब हमारे अंदर किसी रोग या किसी अन्य कारणों से शरीर में खून( deficiency of hemoglobin in body) की कमी हो जाती है।तो बड़े-बड़े डॉक्टर हमें अनार खाने और उसका दूध बनाकर पीने की सलाह देते हैं क्योंकि इसे पीने से कुछ ही दिनों में खून की कमी दूर हो जाती है तथा शरीर बलिष्ठ बनता है।

अनिद्रा में अनार का प्रयोग ( use of pomegranate in insomnia)-


नींद की बीमारियां आजकल बहुत तेजी से बढ़ रही हैं कामकाज के कारण,तनाव के कारण,काम के अधिकता के वजह से नींद नहीं आती तो व्यक्ति insomenia का शिकार हो जाता है ।
जब व्यक्ति को insomnia हो जाता है तो उसे नींद नहीं आती है इसके लिए आपको अनार के कुछ मुलायम 2-3 ग्राम पत्ते को ले ले लेना है और उसे धो कर 200 ग्राम पानी में उबालना है। जब यहां पानी 50 ग्राम बचे तो इसे छानकर रात्रि के समय सोने से पहले पीने से अनिद्रा की बीमारी जड़ से खत्म हो जाती है।
यह use of pomegranate in insomnia का प्रयोग है।

मुंह के छालों के लिए अनार का प्रयोग ( use of pomegranate in mouth ulcer )-


मुंह के छालों के लिए 20 से 30 ग्राम पत्तों को 400 ग्राम पानी में पकाएं जब पानी 100 ग्राम बच जाए तो इस से कुल्ला कीजिए। कुल्ला करने से आपके जो मुंह के छाले हैं वह ठीक हो जाएंगे हालांकि यह थोड़ा सा कड़वा लगता है अगर आपके पास उबालने का भी साधन ना हो तो इन पत्तियों को थोड़ा सा साफ करके 20 से 25 पत्तियों को चबाइए और बनने वाली लार को पूरे मुंह भर में घुमाइए और फिर उस लार को जमीन पर टपकाइए इससे छाले खत्म हो जाते है।
यह Use of pomegranate in ulcer का प्रयोग है।

कान के रोगी के लिए अनार का प्रयोग ( यूज of pomegranate in ear disease)-


कान के रोगों में भी अनार लाभदायक है इसके 20 से 25 पत्ते को लेकर पीस लीजिए तथा उसके रस को निकाल लीजिए इसी के बराबर सरसों का तेल या फिर तिल के तेल में इसे पका के यदि आप दो-दो बूंद कान में डालते हैं तो यह कान के रोगों के लिए दिव्य औषधि है।

मिर्गी के दौरे में अनार का प्रयोग (use of pomegranate in epilepsy)-


जिनको मिर्गी के दौरे पड़ते हैं उनके लिए भी यह एक गुणकारी औषधि है इसके लिए आपको 20 ग्राम पत्तों का रस निकाल लेना है। और उसमें थोड़ी सी मिश्री मिलाकर रोगी को पिला दीजिए यह मिर्गी रोगियों के लिए रामबाण उपाय है।

चेहरे की झुर्रियों के लिए अनार का प्रयोग (use pomegranate in wrinkle)-


जब हमारे शरीर पर या चेहरे पर झुर्रियां पड़ने लगती है चमड़ा लटकने लगता है।
तो इसके लिए आपको 1 किलो ग्राम अनार के पत्तों का रस निकाल लेना है। और उसे आधा किलोग्राम मीठे तेल में मीठा तेल बोलते हैं तिल के तेल को आधा किलो ग्राम तिल के तेल को ले लेना है। इसे बहुत ही धीमी आंच पर पकाएं जब केवल तेल शेष रह जाए। तो उस तेल को छानकर रख लीजिए तथा उसे जहां भी झुर्रियां पड़ी हो वहां पर मालिश कर सकते हैं। कुछ दिन मालिश करने से ही आप देखेंगे कि जो शरीर की मांसपेशियां स्थिर पड़ी थी वह फिर से ठीक होने लगती हैं।
यह use of pomegranate in wrinkles का प्रयोग है।

खांसी के लिए अनार का प्रयोग (use of pomegranate in cough)-

खांसी के लिए अनार के सुखी कलियों को लेना है और और उसमें थोड़ी सी काली मिर्च और 2-3 तुलसी के पत्ते को डालकर चाय की तरह पीने से खांसी में आराम मिलता है। खांसी कितनी भी पुरानी हो यहां ठीक कर देता है।
यह use of pomegranate in cough का प्रयोग है।

पाचन तंत्र को मजबूत करने के लिए अनार का प्रयोग (use of pomegranate to make digestive system strong)-


1-पाचन तंत्र को मजबूत करने के लिए अनार के जूस में यदि थोड़ा सा जीरा भूनकर और थोड़ा-सा सेंधा नमक डालकर यदि रोज पीते हैं तो उससे हमारा पाचन मजबूत होता है।
2- अनार के दानों को चबा चबा कर खाने से भी पाचन तंत्र मजबूत होता है लेकिन आपको इस बात का ध्यान रखना है कि उसके बीजों को भी साथ में चबा चबाकर खाना है यह पाचन तंत्र के लिए रामबाण का प्रयोग है इससे हमारी भूख के क्षमता को भी बढ़ाती है। Anar Increase the ability of eating)


अगर आपको यह पोस्ट उपयोगी लगी हो तो इसे अपने दोस्तो के साथ शेयर करे यदि आपका कोई प्रश्न या सुझाव है तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करे ' धन्यवाद



1 comment: