Breaking News




मियादी बुखार क्या है  what is typhoid fever


Typhoid एक प्रकार वायरल  बुखार होता है जो सलमोनिया टायफी नमक बैक्टीरियाके कारण होता है ।और इसे miyadi bukhar के नाम से जाना जाता है ।और इसमें निरंतर लगभग एक से दो हफ्ते तक बना रहता है और यह बुखार 100डिग्री से 107डिग्री तक हो सकता है यह आंतो वाला बुखार होता है और इसमें लिवर एकदम से बैठ जाता है।
इसमें allopathy में बहुत खतरनाक दवा दी जाती है
ऐसा देखा गया है कि जिसे भी बच्चे को एक  बार  typhoid हो गया फिर वो जल्दी उभर नहीं पाता और यह बीमारी बार बार हो जाती है ।।इसमें सारीर का immunity system एकदम खत्म हो जाती है।
यदि आप इससे हमेशा के लिए निजात पना चाहते है तो नीचे दिए उपचार को करे गारंटी है आपको असर जरूर होगा।।


Symptoms  of typhoid fever  (मियादी   बुखार के लक्षण)


  • Typhoid me लिवर बैठ जाता है और भूख नहीं लगती और headache लगातार बना रहता है
  •  जिससेे रोगी बहुत कमजोर हो जाता है ।ठंड लगना और मांसपेशियों में दर्द इसके मुख्य लक्षण है।
  • कब्ज बनना भोजन का सही से ना पचना। पेट में दर्द होना
  • उल्टी होना ।

Reasons of typhoid fever (मियादी बुखार के कारण)


Typhoid fever salmonella typhi की वजह से होता है तथा यह  रोग मल्या द्वारा एक संक्रमित व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है इसीलिए बाथरूम से आने के बाद हाथो को अच्छी तरह से धोना चाहिए
यह  रोग  साफ सफाई न रखने तथा गंदा पानी पीने से और बाजार के ठेले से गंदी चाट तथा फास्ट फूड  से जिसमें साफ सफाई का कम ध्यान रखते इनको खाने से  की वजह से होता है। और आस पास के माहौल को साफ ना रहने से भी हो सकता है।

Home treatment of Typhoid fever (मियादी बुखार के घरेलू उपचार )-


आज हम आपको दो कारगर उपाय बताता हू -


  1.   पहला उपाय -  इसके लिए आयुर्वेद में बहुत ही सरल और सस्ती दवा है


  • खूबकला
  • अंजीर
  • मुनक्का

 इन तीनों चीजो को पीसकर इसकी चटनी बनाकर खाने 3 से   5 दिन में typhoid जड़ से खत्म हो जाता है इसमें 1से 2   ग्राम खूबकाला ,1से 2 अंजीर ,तथा 5-7 मुनक्का  को सुबह   शाम लेना चाहिए ।यह डोस 15 साल की उम्र से ऊपर वाले   के लिए है
2.  दूसरा उपाय - पपीते के पत्ते और गिलोय का जूस
पीने से typhoid fever  खत्म हो जाता है।


मियादी बुखार में क्या खाना चाहिए(what we can eat in Typhoid fever)



  •  Typhoid  में सरीर एकदम कमजोर पड़ जाता है इसीलिए   इसमें  ज्यादा protein वाला भोजन करना चाहिए
  •  इसमें जादा से जड़ा डेयरी प्रोडक्ट का प्रयोग करना चाहिए   दूध दही आदि
  •  इसमें फलो का जूस लेना एक बेहतर विकल्प हो सकता है
  • Typhoid में हमारा शरीर dehydrate रहता है इसीलिए जादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए
  • हरी सब्जियों को जादा खाना चाहिए
  • रोगी को carbohydrates वाला भोजन करना चाहिए जो पचने में आसान हो जैसे पके हुए चावल, उबले हुए आलू आदि।
  • ओमेगा 3 फेटी एसिड से भरपूर व्यंजन खाना चाहिए ।


मियादी बुखार में क्या नहीं खाना चाहिए ( what we can not eat in Typhoid fever)



  • इसमें पानी को उबाल कर पीना चाहिए
  • इसमें fast foods को बिल्कुल भी नहीं खाना चाहिए
  • तली भुनी चीजों को कम से कम खाना चाहिए
  • ठंडी चीजों को नहीं खाना चाहिए जैसे आइस क्रीम,ठंडा पानी,आदि।
  • और मैदे(refined flour) से बनी चीजों का कम से कम या बिल्कुल नहीं करना चाहिए।
  • अत्यधिक मसाले(spicy) वाली या शरीर में गर्मी  पैदा करने वाला भोजन नहीं करना चाहिए जैसे प्यार ,गरम मसाला।।


मियादी बुखार में सावधानियां ( precautions in Typhoid fever)

 साफ सफाई का खास ध्यान रखना चाहिए अपने आस पास के माहौल को साफ सुथरा रखना चाहिए बाथरूम से आने के बाद हाथो को धोना चाहिए तथा इसमें भोजन हल्का खाना चाहिए
तथा खाने से पहले हाथ धोना चाहिए


अगर आपको यह पोस्ट उपयोगी लगी हो तो इसे अपने दोस्तो के साथ शेयर करे यदि आपका कोई प्रश्न या सुझाव है तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करे ' धन्यवाद '

Tags


No comments